फर्जीवाड़े की कमाई से अमीर बना युसूफ, ठाठ देख पुलिस भी हैरान

लोहरदगा:- ठगों के भी अपने ठाठ हैं। ईमानदारी के काम से भले ही कोई एक मोटरसाइकिल न खरीद पाए पर ठगी और फर्जीवाड़ा कर लोग कार मेंटेन करते हैं। महंगी गाड़ी पर चलते हैं और मौज-मस्ती करते हैं।

कल तक एक बैंडमिटन खिलाड़ी के रूप में जाने वाले शहरी क्षेत्र के राहत नगर निवासी गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले लुकमान अंसारी के पुत्र युसूफ की हैसियत साइकिल के पंचर बनाने की नहीं थी और देखते ही देखते कुछ वर्षों में वह सफारी की सवारी करने लगा। युसूफ को जानने-पहचानने वालों के बीच इसकी एकाएक हुई तरक्की चर्चा का विषय तो था, लेकिन गाड़ी के आगे बड़े-बड़े बोर्ड की धौंस में आकर लोग चुप ही रहना मुनासिब समझते थे। ठाठ देखकर पुलिस भी हैरान सिपाही बहाली के नाम पर फर्जीवाड़ा करने वाले मास्टर माइंड युसूफ के ठाठ देख कर पुलिस भी हैरान हो गई। सफारी वाहन, वाहन के आगे भारत कल्याण सचिव का बोर्ड, चमकदार कपड़े, बातचीत करने का अंदाज, विटिजिग कार्ड, कार्ड में दर्ज कई समिति के रसूखदार पद का जिक्र देख कर लोग पुलिस भी एक बाद सोच में पड़ गई थी। पुलिस के पास युसूफ के बारे में ठोस सूचना न होती तो वह पुलिस को धोखा दे कर बच निकलने में कामयाब हो जाता। जब पुलिस ने युसूफ को पकड़ा उस समय भी वह कई मॉडलों से घिरा हुआ था। खाते में हैं लाखों रुपये जमा…
पुलिस ने युसूफ के बैंक खाते को फ्रिज करने की कार्रवाई प्रारंभ कर दी है। पुलिस ने युसूफ के खाते में जमा राशि की पड़ताल की है। जिसमें लाखों रुपये जमा होने की जानकारी मिली। पुलिस युसूफ और उसके सहयोगियों के अन्य बैंक खातों के बारे में भी पड़ताल कर रही है। पुलिस को इन आरोपितों के बैंक खातों से बड़ी रकम मिलने की उम्मीद है। आरोपितों का आत्मविश्वास देखकर धोखा खा गए बेरोजगार
आरोपितों ने शहरी क्षेत्र के एक होटल में सिपाही बहाली के नाम पर इंटरव्यू को लेकर जिस प्रकार की तैयारी की थी, उसे देख कर बेरोजगार धोखा खा गए। इंटरव्यू को लेकर पांच मॉडल युवती और दर्जन भर पुरूष मॉडल को भी बुलाया गया था। होटल में 15 सौ रुपये में कमरा बुक किया गया था। इसके अलावे इंटरव्यू लेने को लेकर होटल आने वाले सभी मॉडल के लिए अलग से वाहन की व्यवस्था की गई थी। पुलिस को बरगलाता रहा युसूफ
मामले में युसूफ पुलिस के पूछताछ के दौरान कई घंटे तक पुलिस को बरगलाता रहा। पुलिस ने जब उससे पूछा की पैसे किसने लिए तो उसने कई बार पैसे नहीं लेने की बात कही। जब उसके एक सहयोगी कमलेश दूबे को बुलाया गया तो उसके पैसे लेकर सभी पैसे युसूफ को देने की बात कही। इसके बाद युसूफ टूट गया। पुलिसिया कार्रवाई के आगे युसूफ ने कई राज उगले हैं। युसूफ ने कई संगठनों के काले चिटठों को भी पुलिस के समक्ष रखा है। पुलिस ने मामले में जांच को जारी रखा है। कई संगठनों की पुलिस कर रही है पड़ताल

सदर थाना पुलिस मामले में कई संगठनों के संलिप्तता की पड़ताल कर रही है। युसूफ और मॉडल परी पासवान भारतीय सूचना अधिकार रक्षा मंच के साथ जुड़े हुए थे। इसके अलावे युसूफ मानवाधिकार एवं सामाजिक न्याय आयोग, भारतीय सूचना अधिकार रक्षा मंच और भारत कल्याण समिति नाम बिना निबंधन और फर्जी संगठनों के साथ भी जुड़े होने की बात कह रहा है। पुलिस को इन संगठनों के कई सदस्यों के इस प्रकार के फर्जीवाड़े में शामिल होने की जानकारी मिली है। पुलिस ने मामले में कार्रवाई को तेज करते हुए अन्य आरोपितों को भी जल्द ही दबोचने की बात कही है।

कौन-कौन हुआ ठगी का शिकार

लोहरदगा : युसूफ और उसके गिरोह के सदस्यों ने ठगी के शिकार लोगों को व्हाट्सएएप के माध्यम से इंटरव्यू को लेकर बुलाया था। युसूफ और उसकी टीम ने लोहरदगा जिले के कुडू नवाटोली निवासी सत्यनारायण ठाकुर की पत्नी रोशनी देवी से पच्चास हजार, चंदलासो निवासी प्यारे राम की पुत्री अंजली कुमारी से पांच हजार, स्व. अर्जून गंझू की पुत्री कौशल्या कुमारी से 10 हजार, कैरो थाना क्षेत्र के सढ़ाबे गांव निवासी सकलु उरांव की पुत्री कलावती कुमारी से तीस हजार, रांची जिले के बुटी मोड़ हनुमान नगर निवासी मिथिलेश सिंह के पुत्र अनुप सिंह से बीस हजार, कुडू थाना क्षेत्र के हेंजला गांव निवाी पचुवा उरांव के पुत्र सुनील उरांव सेबीस हजार, नुर मोहम्मद अंसारी के पुत्र निशाद अंसारी से बीस हजार, कुडू थाना क्षेत्र के कोकर पुरनाडीह गांव निवासी स्व. एतवा उरांव के पुत्र योगेंद्र उरांव से 17 हजार, फल्गु उरांव के पुत्र अनुराग उरांव से बीस हजार, बंधु उरांव के पुत्र रामकिशुन उरांव से 75 हजार, हरिशचंद उरांव के पुत्र सतीया उरांव से पच्चास हजार, कैरो थाना क्षेत्र के महुवारी गांव निवासी विजय बाखला के पुत्र आनंद बाखला से 41 हजार, चाल्हो गांव निवासी जाकिर अंसारी के पुत्र फिरोज अंसारी से नब्बे हजार, कुडू थाना क्षेत्र के हेंजला कालीपुर गांव निवासी अजय महली के पुत्र दीपक महली से बीस हजार, लातेहार जिले के चंदवा थाना क्षेत्र के पिपराही जमीरा गांव निवासी बुधवा उरांव के पुत्र प्रदीप उरांव से एक लाख, कुडू थाना क्षेत्र के चंदलासो गांव निवासी साहू लोहरा के पुत्र ममल लोहरा से आठ हजार रूपए की ठगी की है। बड़ा गिरोह कर रहा था काम, कई और हुए हैं चिन्हित, जल्द होगी कार्रवाई : एसपी

लोहरदगा एसपी प्रियदर्शी आलोक का कहना है कि ठगी और फर्जीवाड़े के मामले में बड़ा गिरोह काम कर रहा था। मामले में फिलहाल पांच की गिरफ्तारी हुई है। कई और संगठनों के लोग भी चिन्हित हुए हैं। जिनके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हें भी गिरफ्तार किया जाएगा। पुलिस धोखाधड़ी, भयादोहन करने वाले किसी भी व्यक्ति को नहीं छोड़ेगी।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.