प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झारखंड के साहेबगंज में गंगा पर भारत के दूसरे मल्टीमॉडल टर्मिनल का उद्घाटन करेंगे

रांची: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 12 सितंबर 2019 को झारखंड के साहेबगंज में गंगा पर बने भारत के दूसरे मल्टीमॉडल टर्मिनल को राष्ट्र को समर्पित करेंगे। प्रधानमंत्री झारखंड के रांची में आयोजित किए जानेवाले एक कार्यक्रम के दौरान दोतरफा डिजिटल संचार प्रणाली के जरिए अत्याधुनिक टर्मिनल का उद्घाटन करेंगे। शिपिंग राज्यमंत्री ’स्वतंत्र प्रभार’ और रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री मनसुख मांडविया झारखंड के साहेबगंज में उपस्थित रहेंगे। प्रधानमंत्री ने ही अप्रैल 2017 में आईडब्ल्यूएआई के साहेबगंज मल्टीमॉडल टर्मिनल की आधारशिला रखी थी, जिसका निर्माण लगभग दो वर्षों की रिकॉर्ड अवधि में 290 करोड़ रुपए की लागत से हुआ है। यह जलमार्ग विकास परियोजना ’जेएमवीपी’ के तहत गंगा नदी पर बनाए जा रहे तीन मल्टीमॉडल टर्मिनलों में से दूसरा टर्मिनल है। इससे पहले नवंबर 2018 में प्रधानमंत्री ने वाराणसी में मल्टीमॉडल टर्मिनल ’एमएमटी’ का उद्घाटन किया था। साहेबगंज स्थित मल्टीमॉडल टर्मिनल झारखंड एवं बिहार के उद्योगों को वैश्विक बाजार के लिए खोलेगा और इसके साथ ही जलमार्ग के जरिए भारत-नेपाल कार्गो कनेक्टिविटी सुलभ कराएगा। यह राजमहल क्षेत्र स्थित स्थानीय खदानों से एनडब्ल्यू-1 पर स्थित विभिन्न ताप विद्युत संयंत्रों को घरेलू कोयले की ढुलाई करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस टर्मिनल के जरिए कोयले के अलावा स्टोन चिप्स, उर्वरकों, सीमेंट और चीनी की भी ढुलाई किए जाने की आशा है। मल्टीमॉडल टर्मिनल से इस क्षेत्र में लगभग 600 लोगों के लिए प्रत्यक्ष रोजगार और तकरीबन 3000 लोगों के लिए अप्रत्यक्ष रोजगार सृजित होने की आशा है। नए मल्टीमॉडल टर्मिनल के जरिए साहेबगंज में सड़क, रेल, नदी परिवहन के संयोजन से अंदरूनी इलाकों का यह हिस्सा कोलकाता एवं हल्दिया और उससे भी आगे बंगाल की खाड़ी से जुड़ जाएगा। इसके अलावा साहेबगंज नदी-समुद्र रूट से बाग्लादेश होते हुए पूर्वोत्तर राज्यों से जुड़ जाएगा। उपर्युक्त टर्मिनल की क्षमता 30 लाख टन सालाना है। सार्वजनिक-निजी भागीदारी ’पीपीपी’ मोड के तहत दूसरे चरण में क्षमता विस्तार के लिए 376 करोड़ रुपए निवेश करने के बाद यह क्षमता बढ़कर 54.8 लाख टन सालाना हो जाएगी। मल्टीमॉडल टर्मिनलों का निर्माण जलमार्ग विकास परियोजना के तहत किया जा रहा है। जिसका उद्देश्य 1500-2000 टन तक के वजन के बड़े जहाजों के नौवहन के लिए वाराणसी और हल्दिया के बीच गंगा नदी के फैलाव को विकसित करना है।

साहेबगंज मल्टीमॉडल टर्मिनल की विशेषताएं: राष्ट्रीय जलमार्ग-1 ’गंगा नदी’ पर दूसरा मल्टीमॉडल टर्मिनल, मल्टीमॉडल टर्मिनल के प्रथम चरण की लागत 290 करोड़ रुपए, परियोजना आरंभ करने की तिथि 10 नवंबर 2016, परियेाजना पूरी होने की तिथि सितंबरं 2019, जेट्टी लंबाई 270 मीटर, चौड़ाई 25 मीटर, बर्थिंग और लंगर की सुविधा के साथ, एक मोबाइल हार्बर क्रैन।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.