राशि का समय से सही सदुपयोग हो, तभी विकास कार्य का सही अर्थ: सीपी सिंह

रांची: राज्य के नगर विकास एवं आवास विभाग के मंत्री सीपी सिंह ने कहा है कि

हमारा राज्य युवा है। यहां आधारभूत संरचना उपलब्ध कराकर आम शहरी नागरिकों को सुविधाएं उपलब्ध करानी है। इसके लिए राशि एवं निधि की जरूरत है। इसी को ध्यान में रखकर विश्व बैंक से ऋण लिया जा रहा है। ऋण की राशि का सही समय से और सही सदुपयोग हो तभी ऋण लेना सार्थक होगा। सही समय से इस राशि से काम होगा तो ब्याज का बोझ राज्य सरकार पर अधिक नहीं पड.ेगा। प्रोजेक्ट भवन के सभागार में सोमवार को आयोजित कार्यशाला को संबोधित करते हुए यह बातें कहीं। झारखंड के नगरीय विकास के लिए विश्व बैंक परियोजनाओं के लोकार्पण के अवसर पर कार्यशाला का आयोजन किया गया था। कार्याशाला का आयोजन झारखंड म्यूनिसपल डंेवलपमेंट प्रोजेक्ट, नगर विकास विभाग एवं विश्व बैंक द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया। मंत्री सिंह ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि ऋण की राशि का सही उपयोग किया जाए, ताकि शहरी नागरिकों को इसका लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि परियोजनाओं से संबंधित विस्तृत कार्य प्रतिवेदन बनाने वाली परामर्शी कंपनियां परियोजना स्थल पर जाकर सर्वे करें फिर विस्तृत कार्य प्रतिवेदन बनाएं। स्मार्ट रोड बनना चाहिए, उसके निर्माण के दौरान निगरानी आवश्यक है। गुणवत्ता के साथ सड.क बने, ताकि देखने में भी सुंदर लगे। झारखंड सरकार वर्तमान समय में बहुत से विकास कार्य कर रही है। इसमें सबके सहयोग की जरूरत है।

स्मार्ट रोड ऐसा बनाए कि दूसरे राज्य के लोग देखने आए: अजय सिंह

नगर विकास एवं आवास विभाग के सचिव अजय कुमार सिंह ने कहा कि जुडको बड.ी-बड.ी परियोजनाओं का क्रियान्वयन कर रहा है। काम हो रहा है, लेकिन अभी भी झारखंड अन्य विकसित राज्यों की तुलना में काफी पीछे है। शहरी नागरिको तक सुविधाएं पहुचाने के लिए बड.ी धनराशि की आवश्यकता है। सड.क, सिवरेज-ड्रेनेज और शहरी पेयजलापूर्ति के लिए लगभग 1300 करोड. की जरूरत है। इतनी बड.ी राशि राज्य सरकार अपने बजट में नहीं उपलब्ध करा सकती। केंद्र सरकार की योजनाओं के संचालन के लिए भी राशि सीमित है। इसी वजह से विश्व बैंक से सहायता ली गई। राज्य एशियन डेवलपमेंट बैंक की सहयता से भी परियोजनाओं को क्रियान्वयन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि घनबाद में बनने वाला स्मार्ट रोड अद्वितीय होगा। विकसित राज्यों की सुविधा झारखंड में भी उपलब्ध कराना चाहते हैं। उम्मीद है स्मार्ट रोड विकसित देशों के अनुरुप बने। रोड ऐसी बनाए कि झारखंड ही नहीं, बल्कि दूसरे राज्य के लोग आकर देखें कि सड.क बनी है। विश्व बैंक को 100 से अधिक देशों में काम करने का अनुभव है। इसका लाभ झारखंड को मिलेगा। नगर निकायों में पदाधिकारियों एवं कर्मारियों में क्षमता एवं कौशल विकास का भी काम होगा। कम से कम राज्य के सात नगर निगम अपनी आर्थिक सुदृढ. करें, ताकि छोटे कामों के लिए राज्य सरकार से मदद नहीं लेनी पड.े। परियोजनाओं का कार्य इंजीनियरिंग प्रोक्योरमेंट एंड कंस्ट्रशन प्रणाली पर ही कराया जाए।

विश्वबैंक की सहायता से नगरों में नगरीय आधारभूत संरचना का विकास होगा: अमित कुमार

राज्य नगरीय विकास प्राधिकार के निदेशक अमित कुमार ने विश्व बैंक प्रोजेक्ट से संबंधित विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि राज्य के नगरों में आधारभूत संरचना के विकास के लिए विश्व बैंक 1470 करोड. रूपए की परियोजनाओं की स्वीकृति दी है। इसमंे विश्व बैंक 1029 करोड. रूपए का ऋण अंशदान के रूप उपलब्ध करा रहा है, जबकि राज्य सरकार 341 करोड. रुपए का पूंजी लगाएगी। इस राशि से नगरों में सड.क, सिवरेज-ड्रेनेज और पेयजलापूर्ति से संबंधित आधारभूत संरचना का विकास किया जाएगी। उन्होंने बताया कि वर्तमान में विश्व बैंक की सहायता से खूंटी में पेयजलापूर्ति योजना का क्रियान्वयन कराया जा रहा है। इस परियोजना की लागत लगभग 72 करोड. है। इसी प्रकार धनबाद में 20 किलोमीटर की दो स्मार्ट सड.के बनवाई जा रही है। 25 अक्तूबर 2018 को यह परियोजना शुरू हुई है। सात वर्ष की ऋण की अवधि है।

वर्ल्ड बैंक तकनीकी सहायता के साथ कौशल विकास का भी काम करेगा: वशुधा थावाकर

विश्वबैंक की वशुधा थावकर ने कहा कि विश्व बैंक ऋण उपलब्ध कराने के साथ ही उसके सही उपयोग के लिए निकायों के पदाधिकारियों एवं अभियंताओं का क्षमता एवं कौशल विकास करने का भी काम करेगा। इंफ्रा एंड पब्लिक फाईनांस के निदेशक आंनद महादेवन ने नगर निकायों को वाणिज्यिक आत्म निर्भरता के लिए आगे बढ.ने का आह्वान किया। केएमपीजी के प्रतिनिधियों ने नगर निकायों के आर्थिक निर्भरता से संबंधित उपाय एक प्रस्तुतिकरण के माध्यम से बताया। कार्यक्रम में जुडको के परियोजना निदेशक प्रशासन धर्मदेव मिश्र, परियोजना निदेशक तकनीकी राजीव कुमार बासुदेवा और उप परियोजना निदेशक उत्कर्ष मिश्र के अलावा जुुडको, स्मार्ट सिटी, नगर विकास विभाग के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.