पांच सालों में झारखंड का विकास करने के बजाए कबाड़ा कर दिया भजपा सरकार ने : एम. तौसीफ

रांची: झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता डा. एम. तौसीफ ने मुख्यमंत्री रघुवर दास की डबल इंजन वाली सरकार पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि यह खटारा इंजन वाली सरकार बन गई है, जिसने पांच सालों में झारखंड का विकास करने के बजाए कबाड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि खटारा इंजन की सरकार हर मोर्चे पर पूरी तरह फेल हो चुकी है। कानून व्यवस्था से लेकर स्वास्थ्य व्यवस्था तक हर ओर हाहाकार मचा हुआ है, जनता कराह रही है। युवाओं को रोजगार के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पड़ रही हैं। राज्य से पलायन बदस्तूर जारी है। डा. तौसीफ ने कहा कि खटारा इंजन वाली रघुवर सरकार ने अधिकारियों को राज्य के खजाने से पैसा गबन करने का ट्रेनिंग दिया है। इसका उदाहरण पिछले दिनों में गुमला में देखने को मिला है। जिला के स्वच्छता समिति के खाते से 1.16 करोड़ रुपए की राशि शौचालय निर्माण किए बिना फर्जी हस्ताक्षर के माध्यम से इंडियन बैंक गुमला ब्रांच से निकाला गया। एक करोड़ 16 लाख फर्जी निकासी में सरकार के संरक्षण में आलाधिकारी के अलावा निचले स्तर के अधिकारी की संलिप्तता साफ झलक रही है। उन्होंने ने कहा कि खटारा इंजन की रघुवर सरकार एक तरफ दावा करती है कि राज्य में शौचालय निर्माण का टारगेट पूरा कर लिया गया है, वहीं दूसरी ओर उनके ही सरकार के अधिकारियों के मिलीभगत से फर्जीवाड़ा कर पैसा निकालकर अपनी ही सरकार के शौचालय निर्माण का भंडाफोड़ कर रहे हैं। खटारा इंजन की रघुवर सरकार हर मोर्चे पर फेल है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में तो राज्य का और भी बुरा हाल है। उदाहरण देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री रघुवर दास के गृह शहर जमशेदपुर के एमजीएम अस्पताल में 2017 में 4 माह के अंदर 164 बच्चों के मृत्यु की खबर ने राज्य के लोगों को झकझोर दिया था। राज्य के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स की दुर्दशा पर तो हाईकोर्ट ने मंगलवार को कड़ी टिप्पणी की है। कहा है कि जरूरत पड़ी तो रिम्स की अव्यवस्था की सीबीआई से जांच कराई जाएगी। शिक्षा व्यवस्था बर्बाद हो चुकी है। 5 सालों में पारा शिक्षकों को अपने जायज अधिकार के लिए आए दिन सड़कों पर धरना-प्रदर्शन करते हुए देखा गया। आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका की जायज मांग इस सरकार ने पूरी नहीं की।  माइंस विभाग पर माफियाओं का कब्जा है। साधारण आदमी काम करने के लिए सोच भी नहीं सकता। मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के नाम पर रघुवर दास केवल ढिंढोरा पीट रहे हैं। प्रति एकड़ 5000 रुपए देने की बात करने वाले खटारा इंजन वाली रघुवर सरकार एक भी किसान को जिनके पास 5 एकड़, 10 एकड़ जमीन है उसके हिसाब से पैसा नहीं दिया है। किसानों को मूलभूत समस्या सिंचाई और कोल्ड स्टोरेज की है, जिसपर सरकार ने कोई काम नहीं किया। डा. तौसीफ ने कहा कि खटारा इंजन वाली रघुवर सरकार ने 5 सालों में कई घोटाले किए हैं। जिस तरह से झारक्राफ्ट का सीएजी के ऑडिट के बाद घोटाला उजागर हुआ था, उसी तरह से अगर स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम एवं मोमेंटम झारखंड जैसे आयोजनों का सीएजी द्वारा ऑडिट होता तो सरकार का असली चेहरा जनता के सामने आ जाता। कांग्रेस पार्टी ने सीएजी से पूर्व में कई बार अनुरोध किया है कि स्किल डेवलपमेंट एवं झारखंड मोमेंटम आयोजन का भी ऑडिट किया जाए, ताकि दूध का दूध और पानी का पानी झारखंड की जनता के सामने चुनाव से पहले आ सके, लेकिन दुर्भाग्य है कि सरकार ने ऑडिट नहीं होने दिया। खटारा इंजन वाली सरकार के मुखिया रघुवर दास को इसका अंदाजा है कि अगर ऑडिट किया जाएगा तो सरकार का घोटाले वाला चेहरा झारखंड की जनता के सामने आ जाएगा।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.