मुम्बई के विभिन्न ज़िलों में वरेण्य गुरुभ्राता साहब श्री हरीन्द्रानंद का जन्मदिन हर्षोल्लास से मनाया गया

मुुम्बई :- शिव शिष्यता के प्रणेता और इस कालखंड के प्रथम शिव शिष्य साहब श्री हरीन्द्रानंद जी के जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में मुम्बई के विभिन्न क्षेत्रों में शिव चर्चा का आयोजन कर शिव के गुरुस्वरूप से जनमानस का जुड़ाव करने का प्रयत्न किया गया।

मुम्बई के अंधेरी पश्चिम, जोगेश्वरी पूर्व, कांदिवली पूर्व तथा ठाणे जिले के डोम्बिवली पूर्व, पालघर के वसई पूर्व और नालासोपारा पूर्व में बड़ी संख्या में शिव शिष्य और शिष्याओं ने इकट्ठा होकर साहब श्री हरीन्द्रानंद जी का जन्मदिन मनाया और लोगों को शिव शिष्य बनने के लिए प्रेरित किया।
ज्ञातव्य है शिव आदि काल से गुरु और जगतगुरु के पद पर अवस्थित हैं पर सिर्फ किताबों तक। पहली बार इस कालखंड में महेश्वर शिव को आमजन का गुरु बनाने का बीड़ा साहब श्री हरीन्द्रानंद जी ने उठाया और जगत के एक एक व्यक्ति को शिव का शिष्य बनाने का संकल्प लिया। आज उनके जन्मदिन पर उनके संकल्प को अपना बना कर लोगों को शिव गुरु से जुड़ाव के लिए हर सम्भव प्रयत्न करने का आये हुए सैकड़ों गुरुभाई/बहनों ने व्रत लिया।