मुख्यमंत्री रघुवर दास, केंद्रीय जनजातिय कार्यमंत्री अर्जुन मुंडा, केंद्रीय पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने जमशेदपुर में पाइपलाइन के जरिए गैस पहुंचाने की योजना का शुभारंभ

रांची: केंद्र और राज्य सरकार का सपना है। ईज ऑफ लाइफ के तहत जनता तक सीधे सुविधा पहुंचे। उसी निमित आज जमशेदपुर शहरी गैस पाइपलाइन आपूर्ति योजना का शुभारंभ हुआ। यह योजना गांव तक जाएगी, जिस तरह लोगों को घरों में नल के माध्यम से शुद्ध पेयजल पेयजल की आपूर्ति की जाती है। उस तरह गैस की आपूर्ति को भी सुनिश्चित करने की हमारी परिकल्पना अब यथार्थ रूप ले रही है। इससे पूर्व रांची में योजना का शुभारंभ हो चुका है। आनेवाले दिनों में सिलेंडर की जरूरत लोगों को नहीं होगी, क्योंकि घर-घर पाइपलाइन के माध्यम से गैस की आपूर्ति को हम सुनिश्चित करेंगे। आज यहां से 811 करोड़ रुपए की योजना का शुभारंभ हुआ है। बरही में गैस बॉटलिंग प्लांट की आधारशिला रखी गई, इससे क्षेत्र में अप्रत्यक्ष रोजगार का सृजन होगा। योजना के तहत 161 करोड़ रुपए का निवेश हो रहा है। केंद्र और राज्य सरकार लगातार 2014 से पूर्व की स्थिति में बदलाव लाने का प्रयास कर रही है। ये बातें मुख्यमंत्री रघुवर दास ने जमशेदपुर के बिष्टुपुर स्थित गोपाल मैदान में शहरी गैस वितरण परियोजना के उद्घाटन, पुरुलिया जमशेदपुर नेचुरल गैस पाइपलाइन योजना के कार्य प्रारंभ एवं बरही स्थित एचपीसीएल एलपीजी बॉटलिंग प्लांट के शिलान्यास कार्यक्रम में कही। दास ने कहा कि गैस आपूर्ति योजना पेट्रोलियम मंत्रालय की विभिन्न परियोजनाओं के लिए राज्य सरकार ने त्वरित गति से जमीन उपलब्ध कराते हुए योजनाओं को मूर्तरूप प्रदान करने में अपना भरपूर सहयोग दिया है, जिसका परिणाम अब हमारे सामने परिलक्षित हो रहा है और हम इसके गवाह बन रहे हैं।

चूल्हा और रिफिल में उपलब्ध कराया जा रहा है

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश और राज्य की जनता को प्रदूषण रहित ईंधन उपलब्ध कराने के उद्देश्य उज्ज्वला योजना के तहत अबतक 8 करोड़ लोगों को योजना से लाभान्वित किया गया। झारखंड में 40 लाख परिवारों को योजना का लाभ मिला। झारखंड देश का पहला ऐसा राज्य है जो योजना के तहत चूल्हा व रिफिल भी मुफ्त उपलब्ध कराता है। केंद्र और राज्य सरकार से यहां के लोगों को डबल फायदा मिल रहा है। राज्य के 35 किसान भी डबल फायदा से आच्छादित हैं।

केंद्र सरकार ने पूर्वी भारत को बदलने का लिया है संकल्प, सरकार की प्राथमिकता जनता से जुड़े मामलों को धरातल पर उतरना: अर्जुन मुंडा

केंद्रीय मंत्री जनजातीय कार्य अर्जुन मुंडा ने कहा कि केंद्र सरकार ने पूर्वी भारत को बदलने का संकल्प लिया है। 2019 से 2024 का संकल्प नए भारत गढ़ने का है। हमसब मिलकर इस संकल्प को पूरा करेंगे। हम अपनी विशेषताओं के बल पर विश्व के अग्रणी राष्ट्र के रूप में खुद को स्थापित करने का प्रयास करेंगे। आज जमशेदपुर के लोगों को बड़ा लाभ प्राप्त हुआ है। गैस पाइपलाइन के माध्यम से जमशेदपुर के मानगो, सोनारी क्षेत्र में लोगों को गैस उपलब्ध होगा। अब शहर के साथ-साथ गांव को भी इन योजनाओं से जोड़ने की परिकल्पना को साकार रूप दिया जाएगा। इससे ईंधन और राशि की बचत भी होगी। क्योंकि प्रत्येक परिवार के जीवन में दो चीजें जरूरी है खुशी और आयु। अगर हमें प्रदूषण रहित ईंधन प्राप्त होगा तो हमारा स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। सरकार की प्रतिबद्धता जनता से जुड़े मामलों को यथाशीघ्र धरातल पर उतारना है। स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने के लिए जलशक्ति मंत्रालय का गठन किया गया है। हर क्षेत्र में गुणवत्तापूर्ण कार्य किए जा रहे हैं। शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए शिक्षा के क्षेत्र में नए कार्य प्रारंभ किए गए हैं।

नया झारखंड बनाने को हम कृतसंकल्पित, आधुनिक जमशेदपुर बनाया जाए इसकी कोशिश की गई: धर्मेंद्र प्रधान

केंद्रीय मंत्री पेट्रोलियम, प्राकृतिक गैस एवं इस्पात धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि जमशेदपुर की पहचान औद्योगिक केंद्र के रूप में है। सरकार ने इसे और आधुनिक बनाने का प्रयास किया है। आज पाइपलाइन के माध्यम से घरेलू ईंधन पहुंचाने का शुभारंभ हुआ। पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम, सरायकेला खरसावां में भी गैस पाइपलाइन के माध्यम से गैस की आपूर्ति की जाएगी। ऑटो, छोटे वाहन, बसों में सीएनजी के उपयोग से एक स्वच्छ और प्रदूषण रहित ईंधन की आपूर्ति सुनिश्चित की गई, यह सस्ता है। एक ऑटो चालक सीएनजी के माध्यम से 3 से 5 हजार रुपए की बचत कर सकता है। इस बचत से उसे बड़ी राहत मिलेगी। जमशेदपुर आधुनिक व्यवस्था से जुड़े क्या हमारा लक्ष्य उर्जा गंगा परियोजना के तहत 50 साल में जो नहीं हुआ, वह अब होगा। झारखंड अपार संभावना का क्षेत्र है। इसकी संभावनाओं को तलाशने का प्रयास 2014 के बाद से हुआ है। केंद्र सरकार पूर्वी भारत के विकास को प्राथमिकता दे रही है। आधारभूत संरचना हो या लोगों को मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराने की बात। इन सबका एक बड़ा हिस्सा पूर्वी भारत को मिल रहा है। इस अवसर पर खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री सरयू राय, जमशेदपुर सांसद विद्युतवरण महतो, पोटका विधायक श्रीमती मेनका सरदार, विधायक घाटशिला लक्ष्मण टुडू, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती कल्याणी शरण, सीएमडी गेल आशुतोष कर्नाटक, उपायुक्त जमशेदपुर रविशंकर शुक्ला, वरीय आरक्षी अधीक्षक अनूप बिरथरे, गेल के पदाधिकारी, एचपीसीएल के पदाधिकारी व अन्य उपस्थित थे।

यह भी जानना जरूरी है: जमशेदपुर की कंचन सिंह ने एलपीजी का उपयोग कर जमशेदपुर गैस पाइपलाइन योजना का शुभारंभ किया, मानगो स्थित सीएनजी स्टेशन से ऑटो चालक रामअवतार गिरी ने अपने ऑटो में सीएनजी भरकर योजना का किया शुभारंभ, जमशेदपुर के 1 हजार उपभोक्ताओं को पीएनजी का उपभोग करने लगे, उर्जा गंगा परियोजना के तहत झारखंड के 12 जिलों से 551 किलोमीटर की दूरी तयकर गैस पाइपलाइन गुजर रही है, परियोजना के तहत 2500 करोड़ का निवेश हो रहा है, बरही स्थित एलपीजी बॉटलिंग प्लांट के माध्यम से 1 करोड़ 28 लाख बॉटलिंग होगी। 26 एकड़ क्षेत्रफल 161.5 करोड़ की लागत से प्लांट का निर्माण होगा।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.