आजसू पार्टी में अब नेता नहीं चूल्हा प्रमुख होंगे चुनाव के दारोमदार: सुदेश महतो

रांची: आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश महतो ने कहा है कि नेता नहीं चूल्हा प्रमुख ही चुनाव के दारोमदर होंगे। झारखंडी विचारों, और विषयों को सामने रखकर हमें जनादेश हासिल करना है और इस जनादेश में जनसाधारण की आवाज साफ सुनाई पड़े। अबतक जनसाधारण को मतदामन का हिस्सा भर समझा जाता है। हमने इस धारणा को बदलने के ल्एि चूल्हा प्रमुखों को अहम जिम्मेदारी दी है। शुक्रवार को तमाड़ विधानसभा क्षेत्र के सलगाडीह में पार्टी के चूल्हा प्रमुखों के सम्मेलन में आजसू अध्यक्ष ने ये बातें कही। इस सम्मेलन में दस हजार चूल्हा प्रमुख शामिल हुए। महतो ने कहा कि नेता चुनाव में माहौल बनाते हैं, पर चुनाव बूथ के कार्यकर्ता ही जीत सकते हैं। इसलिए हमनें बूथ के कार्यकर्ताओं और चूल्हा प्रमुखों का दायित्व बड़ा कर दिया है। पार्टी में पदाधिकारी तो कोई भी बन सकता है, लेकिन चूल्हा प्रमुख और साधारण कार्यकर्ता के तौर पर पार्टी की रणनीति को सफल करने वाला ही हमारे लिए सबसे बड़ा पदाधिकारी होगा। सुदेश ने कहा कि तमाड़ विधानसभा क्षेत्र आजसू पार्टी के 2019 के मिशन में सबसे ज्यादा समर्थन देनेवाला साबित हो, इसके लिए एक-एक कार्यकर्ता को कड़ी मेहनत करने की जरूरत है। दस हजार लोगों का यह जुटान इसी मेहनत का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि एक चूल्हा प्रमुख पर पांच-छह घरों से सीधा संवाद और रिश्ता बनाने की जिम्मेदारी है। यह रिश्ता सिर्फ चुनाव तक का नहीं होगा। अगले पांच साल के लिए होगा। उन पांच घरों को विकास की मुख्यधारा से कैसे जोड़े जाएं, उनका मत और विचार कैसे विधानसभा में गूंजे, यह हक और अधिकार चूल्हा प्रमुख का होगा। चुनाव जीतने वाला उनका हुक्म बजाएगा। महतो ने कहा कि बूथ के कार्यकर्ता अथवा चूल्हा प्रमुख की जिम्मेदारी बूथों पर मतदाता पर्ची बांटने तक सीमित नहीं होगी। मतदाताओं को ये पर्ची तो मतदान में जुटे सरकारी कर्मचारी पहुंचाते हैं। बूथ कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी होगी कि चुनाव के जरिए राजनीति का तानाबाना बदलना। जिससे समर्थकों और वोटरों को अहसास हो कि आजसू पार्टी ने परिपाटी बदलने का अहम निर्णय लिया है, तो वह उसपर कायम भी है। इस अवसर पर मुख्य रूप से डा. देवशरण भगत, पार्वती देवी, रामदुर्लभ सिंह मुंडा, विजय मानकी, जीप सदस्य रमनी बाला, फुल कुमारी, बालकृष्ण मुंडा, बुंडू प्रमुख परमेश्वरी सांडिल्य, केशव महतो, सुधा मुडू, उमेश नायक, हरिहर महतो, जगदीश महतो, हीरा दास, शिवनाथ मुंडा, देवनारायण सिंह, दुती मुंडा, नीरज सिंह आदि उपस्थित थे।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.