क्षेत्र में किसी प्रकार की कमी पाई जाती है तो संबंधित सिविल सर्जन, जिला आरसीएच पदाधिकारी जिम्मेवार होंगे: कुलकर्णी

रांची: मुख्य अतिथि सचिव स्वास्थ्य चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग डा0 नितीन मदन कुलकर्णी ने निदेशित किया कि सघन मिशन इंद्रधनुष 2-0 का मुख्य उद्देश्य सभी बच्चों को रोग प्रतिरोधक टीकाकरण सुनिश्चित करना है। राज्य के सभी सिविल सर्जन एवं जिला आरसीएच पदाधिकारियों को निदेशित किया गया कि राज्य, जिला, प्रखंड, स्वास्थ्य उपकेंद्र तक इसका समुचित पर्यवेक्षण एवं अनुश्रवण सुनिश्चित किया जाए। अगर किसी भी क्षेत्र में किसी प्रकार की कमी पाई जाती है तो इसके लिए संबंधित सिविल सर्जन एवं जिला आरसीएच पदाधिकारी जिम्मेवार होंगे। पर्यवेक्षण सहयोगात्मक एवं त्रुटिनिवाकर होना चाहिए। प्रत्येक जिला के लिए इस कार्यक्रम में समुचित पर्यवेक्षण के लिए राज्यस्तरीय पदाधिकारियों को नामित किया गया है। जिनके देखरेख में यह कार्यक्रम संचालित किया जाना है। सचिव स्वास्थ्य चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग डा. नितीन मदन कुलकर्णी के द्वारा ‘सघन मिशन इंद्रधनुष 2-0’ कार्यक्रम का राज्यस्तरीय उद्घाटन सिविल सर्जन रांची के सभागार में दीप प्रज्जवलित कर किया गया। स्वागत भाषण काते हुए डा. विजय बिहारी प्रसाद, सिविल सर्जन रांची ने जानकारी दी कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य पूर्ण टीकाकरण से छुटे हुए ऐसे बच्चे के लिए आयोजित है जिन्होंने या तो टीकाकरण कराया ही नहीं है अथवा टीकाकरण अंतर्गत कोई वैक्सीन छुट गया है।  डा. अमर कुमार मिश्रा नोडल पदाधिकारी शिशु स्वास्थ्य द्वारा जानकारी दी गई कि सघन मिशन इंद्रधनुष 2-0 कार्यक्रम अंतर्गत झारखंड राज्य के सभी जिलों में कुल 55075 बच्चों का टीकाकरण पूर्ण किया जाना है। सघन मिशन इंद्रधनुष 2-0 कुल चार फेज में संपन्न किया जाना है। जिसके अंतर्गत 2 दिसंबर 2019, 6 जनवरी 2020, 3 फरवरी 2020 एवं 2 मार्च 2020 को किया जाना है। प्रत्येक चरण में कुल 7 कार्यदिवसों में लगातार टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा। इस कार्यदिवस में अगर किसी प्रकार की छुट्टी होगी तो अगले दिन यह कार्यक्रम किया जाएगा। डा. अमरेंद्र कुमार रिजनल टीम लीडर, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि इस कार्यक्रम के समुचित क्रियान्वयन के लिए जिला एवं प्रखंड स्तर पर स्वास्थ्य विभाग, आईसीडीएस एवं अन्य संबंधित विभागों के साथ बैठक आयोजित कर ली गई है। हेड काउंट के उपरांत माइक्राप्लानिंग किया गया है। इसके अतिरिक्त शहरी क्षेत्रों, मलिन बस्ती, दुरस्त एवं दुरगामी क्षेत्रों के लिए अलग से कार्ययोजना तैयार की गई है। लोगों को कार्यक्रम के प्रति जागरूक करने के लिए प्रचार-प्रसार अंतर्गत माईकिंग, प्रभात फेरी, रैली, नुक्कड़ नाटक होडिंग्स, फलैक्स के माध्यम प्रचार-प्रसार किया गया है। धन्यवाद ज्ञापक डा. यूसी सिन्हा उपनिदेशक स्वास्थ्य सेवाएं के द्वारा किया गया। कार्यक्रम का संचालन समरेश कुमार सिंह जिला कार्यक्रम प्रबंधक रांची के द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.