चौथे चरण के चुनाव में सुरक्षा के कड़े इंतजाम, 15 सीटों पर मतदान आज

रांची: विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में 15 सीटों पर 16 दिसंबर सोमवार को होनेवाले मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है। सुरक्षा के लिहाज से सभी विधानसभा क्षेत्रों में केंद्र से मिले 140 कंपनी सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। इसके अलावा जिला बल और गृहरक्षक को भी लगाया गया है। सभी मतदान केंद्रों पर सुरक्षा बलों की तैनाती की गई है। नक्सल प्रभावित बूथों पर मतदान कर्मियों की हेली ड्रॉपिंग कराई जाएगी। एडीजी ऑपरेशन मुरारीलाल मीणा ने बताया कि चुनाव को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए पर्याप्त संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। चौथे चरण की 15 सीटों के लिए पर होनेवाले चुनाव में कुल 221 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। इनमें 198 पुरुष और 23 महिला उम्मीदवार शामिल हैं। बोकारो सीट से सबसे ज्यादा 25 उम्मीदवार चुनावी दंगल में हैं, तो निरसा सीट के लिए सबसे कम 8 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। इसके अलावा मधुपुर से 13, देवघर से 12, बगोदर से 12, जमुआ से 14, गांडेय से 12, गिरिडीह में 12, डुमरी में 15, चंदनक्यारी से 15, सिंदरी से 16, धनबाद से 22, झरिया में 17, टुंडी में 13 और बाघमारा से 15 उम्मीदवार चुनाव मैदान में है।

इन स्थानों पर बूथ एप्प का इस्तेमाल: चौथे चरण में देवघर ’एससी’, गांडेय, बोकारो और झरिया विधानसभा क्षेत्र में बूथ एप्प का इस्तेमाल किया जाएगा। इससे पहले दूसरे चरण में जमशेदपुर पूर्व, जमशेदपुर पश्चिम और चाईबासा और तीसरे चरण में रामगढ़, हजारीबाग और रांची में बूथ एप्प का इस्तेमाल हो चुका है।

पोस्टल बैलेट से मतदान: पहली बार झारखंड विधानसभा चुनाव से 80 साल से ज्यादा आयु के तथा दिव्यांग मतदाताओं को पोस्टल बैलेट के जरिए घर से मतदान करने की सुविधा देने की शुरुआत की गई है। यहां प्रायोगिक तौर पर सात विधानसभा क्षेत्रों में इसे शुरू किया जा रहा है। इन विधानसभा क्षेत्रों में पाकुड़, राजमहल, देवघर, गोड्डा, जामताड़ा,ा् बोकारो और धनबाद शामिल हैं। चौथे चरण में 1210 दिव्यांग और 80 साल से ज्यादा आयु के मतदाताओं से उनके घर पर पोस्टल बैलेट से मतदान की प्रक्रिया पूरी कराई जा चुकी है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय चौबे ने बताया कि दिव्यांग मतदाताओं की मतदान में भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए विशेष सुविधाएं दी जा रही है। इसके तहत चौथे चरण में 15 सीटों पर होनेवाले चुनाव में दिव्यांग मतदाताओं की सहूलियत के लिए मतदान केंद्रों में 2504 व्हील चेयर और 4039 वोलेंटियर्स की तैनाती की गई है। इसके अलावा उन्हें घर से मतदान केंद्र तक लाने-ले जाने के लिए 3432 वाहनों का इस्तेमाल किया जाएगा। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। इसके अंतर्गत देवघर जिले में 4 सहायक व्यय प्रेक्षक, 16 उड़नदस्ता दल ’एफएस’ और 12 स्टैटिक सर्विलास टीम ’एसएसटी’ बनाई गई। गिरिडीह जिले 6 सहायक व्यय प्रेक्षक, 18 एफएस और 18 एसएसटी, बोकारो जिले में 4 सहायक व्यय प्रेक्षक, 12 एफएस और 13 एसएसटी और धनबाद जिले में 9 सहायक व्यय प्रेक्षक, 45 एफएस और 18 एसएसटी का गठन किया गया। इस तरह चौथे चरण के चुनाव को लेकर कुल 23 सहायक व्यय प्रेक्षक, 91 उड़नदस्ता दल और 61 स्टैटिक सर्विलांस टीम गठित की गई, वहीं चौथे चरण में देवघर, गिरिडीह, बोकारो और धनबाद जिले में सुविधा एप्प पर कुल 3310 आवेदन मिले, जिसमें 2050 को स्वीकृति दे दी गई।

6101 मतदान केंद्रों में 1133 अतिसंवेदनशील, 3070 संवेदनशील, आर्मड फोर्सेज के जवान रहेंगे तैनात: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि चौथे चरण में 16 दिसंबर को 15 सीटों पर होनेवाले मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस चरण में जिन विधानसभा सीटों के लिए चुनाव हो रहा है उसमें से कई नक्सल प्रभावित हैं। इस वजह से अतिसंवेदनशील और संवेदनशील मतमदान केंद्रों की सुरक्षा के आर्मड पुलिस को तैनात किया गया है। पुलिस मूवमेंट को लेकर आवश्यक निर्देश जारी कर दिए गए हैं। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि मतदान केंद्रों को नक्सल और गैर नक्सल आधार पर संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों में रखा गया है। उन्होंने बताया कि नक्सल प्रभावित इलाकों में 587 अतिसंवेदनशील और 405 संवेदनशील मतदान केंद्र हैं, वहीं गैर नक्सल इलाकों में अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों की संख्या 546 और संवेदनशील मतदान केंद्रों की संख्या 2665 है। इसके अलावा सामान्य मतदान केंद्रों की संख्या 1898 चिन्हित की गई है। संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों में आर्मड फोर्सेज के जवान तैनात किए गए हैं।

10 सीटों पर शाम पांच बजे, 5 सीटों पर तीन बजे तक मतदान: चौथे चरण की 10 सीटों पर सुबह 7 बजे से शाम पांच बजे तक मतदान होगा। इन 10 सीटों में मधुपुर, देवघर, गांडेय, बोकारो, चंदनक्यारी, सिंदरी, निरसा, धनबाद, झरिया और बाघमारा शामिल है, जबकि पांच सीटों पर सुबह 7 बजे से तीन बजे तक मतदान होगा। इनमें बगोदर, जमुआ, गिरिडीह, डुमरी और टुंडी शामिल हैं।

इन 15 सीटों पर होगी वोटिंग: चौथे चरण में जिन सीटों पर 16 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे उनमें मधुपुर, देवघर ’एससी’, बगोदर, जमुआ ’एससी’, गांडेय, गिरिडीह, डुमरी, बोकारो, चंदनक्यारी ’एससी’, सिंदरी, निरसा, धनबाद, झरिया, टुंडी और बाघमारा सीटें शामिल हैं।

इन उम्मीदवारों की प्रतिष्ठा दांव पर: राज्य सरकार के मंत्री राज पलिवार मधुपुर के खिलाफ पूर्व मंत्री हाजी हुसैन अंसारी ताल ठोंक रहे हैं। चंदनक्यारी से मंत्री अमर बाउरी के खिलाफ पूर्व मंत्री उमाकांत रजक आजसू के टिकट पर चुनौती दे रहे हैं। देवघर में वर्तमान विधायक नारायण दास का मुकाबला महागठबंधन के राजद उम्मीदवार व पूर्व मंत्री सुरेश पासवान से है। गांडेय सीट पर कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सरफराज अहमद झामुमो के टिकट पर चुनावी मैदान में हैं। डुमरी से पूर्व मंत्री लालचंद महतो, टुंडी से झामुमो के दिग्गज व पूर्व मंत्री मथुरा महतो, बाघमारा से पूर्व मंत्री जलेश्वर महतो ताल ठोक रहे हैं।

सिंह मेंशन की बहुओं के बीच मुकाबला: पहली बार सिंह मेंशन की बहुएं भी चुनाव में एक-दूसरे के खिलाफ खड़ी हैं। भाजपा विधायक संजीव सिंह की पत्नी रागिनी सिंह भाजपा के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं, वहीं संजीव सिंह के खिलाफ बीते चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने वाले उनके चचेरे भाई नीरज सिंह की पत्नी पूर्णिमा सिंह पर इसबार कांग्रेस ने भरोसा जताया है। नीरज सिंह की हत्या के बाद उनका उत्तराधिकार पूर्णिमा सिंह संभाल रही हैं। जेल में बंद होने के कारण भाजपा ने इसबार संजीव का टिकट काट दिया।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.