विधानसभा चुनाव: अंतिम चरण मतदान के लिए तैयारी पूरी, आज डाले जाएंगे 16 सीटों पर वोट

रांची: झारखंड विधानसभा 2019 के पांचवें और अंतिम चरण के लिए चुनाव प्रचार का शोर बुधवार को थम गया। 6 जिलों में 16 विधानसभा सीटें हैं, जिनपर 20 दिसंबर शुक्रवार को मतदान होगा। इस चरण में पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, समाज कल्याण मंत्री लुईस मरांडी और कृषि मंत्री रंधीर सिंह चुनाव मैदान में हैं। गुरुवार को मतदानकर्मियों को कलस्टर व बूथों पर रवाना किया गया। मतदानकर्मियों को उनके आवंटित केंद्रों तक भेजने की गहमागहमी गुरुवार की सुबह सात बजे से ही शुरू हो गई है। लिट्टीपाड़ा विधानसभा क्षेत्र के गोपीकांदर प्रखंड दुमका जिला के तहत नक्सल प्रभावित सात मतदान केंद्रों में गुरुवार को हेलिड्रॉपिंग के जरिए मतदान कर्मियों को उनके केंद्र तक भेजा गया। इस दौरान बाजार समिति स्थित डिस्पैच स्थल से लेकर हेलीपैड तक चाक चौबंद सुरक्षा व्यवस्था थी। मौके पर जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह डीसी कुलदीप चौधरी, एसपी राजीव रंजन सिंह एवं वरीय नोडल पदाधिकारी सह डीडीसी रामनिवास यादव समेत सभी पदाधिकारी व कर्मी सक्रिय दिखे। मजिस्ट्रेट व पुलिस के अधिकारियों को एक-एक मतदान पार्टी एवं संबंधित वाहनों का मिलान कर विदा किया गया। इसके अलावा मतदान कर्मियों व सुरक्षा बलों को रवाना करने से पूर्व सभी वरीय प्रशासनिक व पुलिस पदाधिकारियों द्वारा अंतिम आवश्यक निर्देश भी दिए गए हैं। खासकर किसी विशेष परिस्थिति की सूचना तुरंत नियंत्रण कक्ष समेत संबंधित पदाधिकारियों को देने की हिदायत दी गई, ताकि समय पर उन्हें हरसंभव मदद पहुंचाई जा सके।

यहां होनी है वोटिंग: राजमहल, बोरियो, बरहेट, लिट्टीपाड़ा, पाकुड़, महेशपुर, शिकारीपाड़ा, दुमका, जामा, जरमुंडी, नाला, जामताड़ा, सारठ, पोडै़याहाट, गोड्डा और महगामा विधानसभा सीट के लिए मतदान होना है। इन सीटों में अनुसूचित जनजाति के लिए 7 सीट आरक्षित है, जबकि 9 सामान्य श्रेणी की सीटें हैं। इसमें राजमहल, पाकुड़, नाला, जामताड़ा, दुमका, जामा, जरमुंडी, सारठ, पोड़ैयाहाट, गोड्डा और महगामा में सुबह 7 से शाम 5 बजे तक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे, वहीं बोरियो, बरहेट, लिट्टीपाड़ा, महेशपुर और शिकारीपाड़ा में सुबह 7 से अपराह्न 3 बजे तक मतदान होगा। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे ने बताया कि मतदान शुरू होने के डेढ़ घंटा पहले मतदान कर्मियों और मतदान अभिकर्ता को मतदान केंद्र पर उपस्थित होना है। इसके बाद मॉक पोल की कार्रवाई की जाएगी। मॉक पोल के बाद मतदान की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी। जिन विधानसभा सीटों के लिए मतदान की समाप्ति का समय अपराह्न 3 और 5 बजे तक है वहां उस समय तक मौजूद सभी मतदाता मतदान कर सकेंगे।

वोटिंग का समय: राजमहल, पाकुड़, नाला, जामताड़ा, दुमका, जामा, जरमुंडी, सारठ, पोड़ैयाहाट, गोड्डा व महगामा में सुबह 7 से शाम 5 बजे तक मतदान होगा। बोरियो, बरहेट, लिट्टीपाड़ा, महेशपुर और शिकारीपाड़ा में सुबह 7 से अपराह्न 3 बजे तक डाले जाएंगे वोट।

3 सीटों में महिला मतदाताओं की संख्या अधिक: पांचवे व अंतिम चरण में तीन ऐसे विधानसभा क्षेत्र हैं जहां पुरुषों की तुलना में महिला मतदाताओं की संख्या ज्यादा है। लिट्टीपाड़ा में महिला मतदाताओं की कुल संख्या 1,01,482 है, जबकि पुरुष मतदाता 98,306 है। इसी तरह महेशपुर में महिला मतदाताओं की कुल संख्या 1,08,486 व 1,07,979 पुरुष मतदाता और शिकारीपाड़ा में 1,0522 महिला और 1,03,521 पुरुष मतदाता हैं।

सुरक्षा के पुख्ता इंताजाम: साहेबगंज जिले में आनेवाले तीन विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं की कुल संख्या 7,47,193 है। पाकुड़ जिले के अंतर्गत आनेवाले लिट्टीपाड़ा, पाकुड़ तथा महेशपुर विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं की कुल संख्या 7,36,287 है। जामताड़ा जिले में दो विधानसभा क्षेत्र में 5,00,099 मतदाता हैं। दुमका जिले के चार विधानसभा क्षेत्र के लिए 8,87,832 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। देवघर जिले के एक विधानसभा क्षेत्र में 2,73,989 और गोड्डा जिले में तीन विधानसभा क्षेत्र में 8,59,7787 मतदाता हैं। इसमें नए मतदाताओं की कुल संख्या 93,779 है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि अन्य चरणों की तरह इस चरण में भी सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए है। पोड़ैयाहाट के निर्दलीय प्रत्याशी संजय सिन्हा की मौत बुधवार को हार्टअटैक से हो गई। ऐसे में चुनाव स्थगित होने की सूचना आने लगी, इसपर अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कृपानंद झा ने बताया कि ऐसा कोई प्रावधान नहीं है। मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल के किसी प्रत्याशी की मौत होने चुनाव स्थगित किया जाता, लेकिन निर्दलीय प्रत्याशियों के लिए इस तरह का प्रावधान नहीं है। बता दें प्रत्याशी संजय सिन्हा गोड्डा के देवबंधा गांव के रहने वाले थे। इस चरण में कुल 236 प्रत्याशी मैदान में है। संजय सिन्हा की मौत के पहले कुल 237 प्रत्याशी मैदान में थे।

दिव्यांग मतदाताओं को दी जा रही विशेष सुविधा: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि दिव्यांग मतदाताओं की मतदान में भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए विशेष सुविधाएं दी जा रही है। इसके तहत पांचवे चरण में 16 सीटों पर होनेवाले चुनाव में दिव्यांग मतदाताओं की सहूलियत के लिए मतदान केंद्रों में 2065 व्हील चेयर और 7505 वोलेंटियर्स की तैनाती की गई है। इसके अलावा उन्हें घर से मतदान केंद्र तक लाने-ले जाने के लिए 2766 वाहनों का इस्तेमाल किया जाएगा।

237 उम्मीदवार हैं चुनाव मैदान में: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि पांचवे चरण के चुनाव में 237 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। इनमें 208 पुरुष और 29 महिला प्रत्याशी शामिल हैं। जरमुंडी सीट से सबसे ज्यादा 26 और पोड़ैयाहाट सीट के लिए सबसे कम 8 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। इसके अलावा राजमहल से 23, बोरियो से 12, बरहेट से 12, लिट्टीपाड़ा से 11, पाकुड़ से 11, महेशपुर से 12, शिकारीपाड़ा से 13, नाला से 16, जामताड़ा से 13, दुमका से 13, जामा से 15, सारठ से 21, गोड्डा से 14 और महगामा से 17 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है।

वेबकास्टिंग, महिला संचालित और आदर्श मतदान केंद्रों की संख्या: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि पांचवे चरण के चुनाव को लेकर 1347 मतदान केंद्रों पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई है, वहीं 249 आदर्श मतदान केंद्र और 133 महिला संचालित मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

5 विधानसभा सीट के चुनाव में 1 से ज्यादा ईवीएम का होगा इस्तेमाल: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि 16 सीटों पर होनेवाले मतदान में रिजर्व समेत कुल 8987 बैलेट यूनिट, 6738 कंट्रोल यूनिट और 7006 वीवीपैट का इस्तेमाल किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिन विधानसभा सीटों के लिए 16 या उससे ज्यादा उम्मीदवार हैं वहां दो ईवीएम का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके अंतर्गत राजमहल, नाला, जरमुंडी, सारठ और महगामा में एक से ज्यादा ईवीएम का इस्तेमाल होगा।

निर्वाचन व्यय के अनुवीक्षण के लिए किए गए पुख्ता इंतजाम: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय चौबे ने बताया कि निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पांचवे चरण में जिन विधानसभा सीटो के लिए मतदान हो रहा है वहां प्रत्याशियों के चुनावी खर्च पर निगरानी की पुख्ता व्यवस्था की गई। इसके अंतर्गत साहेबगज जिले में 3 सहायक व्यय प्रेक्षक, 9 उड़नदस्ता दल ’एफएस’ और 9 स्टैटिक सर्विलास टीम ’एसएसटी’ बनाई गई। पाकुड़ जिले 3 सहायक व्यय प्रेक्षक, 18 एफएस और 27 एसएसटी, दुमका जिले में 4 सहायक व्यय प्रेक्षक, 30 एफएस और 15 एसएसटी, जामताड़ा जिले में 3 सहायक व्यय प्रेक्षक, 7 एफएस और 15 एसएसटी, देवघर जिले में 4 सहायक व्यय प्रेक्षक, 16 एफएस और 12 एसएसटी, गोड्डा जिले में 3 सहायक व्यय प्रेक्षक, 11 एफएस और 15 एसएसटी का गठन किया गया। इस तरह पांचवे चरण के चुनाव को लेकर कुल 20 सहायक व्यय प्रेक्षक, 91 उड़नदस्ता दल और 93 स्टैटिक सर्विलांस टीम गठित की गई।

सुविधा एप पर मिले 2597 आवेदन, 1803 को स्वीकृति: पांचवे चरण में हो रहे चुनाव को लेकर साहेबगंज, पाकुड़, दुमका, जामताड़ा, देवघर और गोड्डा जिले से सुविधा एप्प पर कुल 2597 आवेदन प्राप्त हुए। जिसमें से 1803 को अप्रूवल दिया गया, जबकि 559 आवेदन रिजेक्ट कर दिए गए। इसके अलावा 135 आवेदन लंबित और 34 आवेदनों को कैंसिल कर दिया गया।

8 मतदान केंद्र किए गए हैं री-लोकेट: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि पांचवे चरण में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए 8 मतदान केंद्र री-लोकेट किए गए हैं। इनमें लिट्टीपाड़ा विस क्षेत्र में 2, शिकारीपाड़ा विस क्षेत्र में 5 और जामा विस क्षेत्र में 1 मतदान केंद्र हैं। री-लोकेटेड मतदान केंद्रों पर मतदाताओं को लाने के लिए निशुल्क वाहन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है।

5389 मतदान केंद्रों में 1717 अतिसंवेदनशील, 1973 संवेदनशील बूथ, अतिसंवेदनशील और संवेदनशील बूथों में आर्मड फोर्सेज के जवानों की तैनाती: विनय कुमार चौबे ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि पांचवे चरण में 20 दिसंबर को 16 सीटों पर होनेवाले मतदान को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस चरण में 5389 मतदान केंद्रों में से 1717 अतिसंवेदनशील और 1973 संवेदनशील मतदान केंद्र के रुप में चिन्हित किए गए हैं। इन मतदान केंद्रों की सुरक्षा को लेकर आर्मड फोर्सेज के जवानों की तैनाती की गई है। मतदान के दिन पुलिस मूवमेंट को लेकर इन्हें आवश्यक निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

अतिसंवेदनशील-संवेदनशील श्रेणी में रख सुरक्षा के इंतजाम: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि मतदान केंद्रों को नक्सल और गैर नक्सल आधार पर संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों में रखा गया है। उन्होंने बताया कि नक्सल प्रभावित इलाकों में 396 अतिसंवेदनशील और 208 संवेदनशील मतदान केंद्र हैं, वहीं गैर नक्सल इलाकों में अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों की संख्या 1321 और संवेदनशील मतदान केंद्रों की संख्या 1765 है। इसके अलावा सामान्य मतदान केंद्रों की संख्या 1699 है।

पोड़ैयाहाट सीट से निर्दलीय प्रत्याशी संजय कुमार सिन्हा के देहांत के कारण अब 8 की जगह 7 प्रत्याशी चुनाव मैदान में: पांचवे चरण में 16 सीटों के लिए 20 दिसंबर को होनेवाले मतदान में अब 237 की जगह 236 प्रत्याशियों की किस्मत का होगा फेसला। पोड़ैयाहाट विधानसभा सीट के लिए निर्दलीय प्रत्याशी संजय कुमार सिन्हा का देहांत हो चुका है। इनका चुनाव चिन्ह आलमीरा छाप था। इनकी मृत्यु के उपरांत पोड़ैयाहाट सीट से अब 8 प्रत्याशी की जगह 7 प्रत्याशी चुनाव मैदान में रह गए हैं। इसके साथ ही पांचवे चरण में 16 सीटों के लिए प्रत्याशियों की कुल संख्या 237 की जगह अब 236 रह गई है। इन सीटों के लिए 20 दिसंबर को मतदान होगा।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.