झारखंड विधानसभा सत्र: मॉब लिंचिंग पर सत्ता-विपक्ष में तीखी नोंकझोंक, कार्यवाही स्थगित

रांची: पंचम झारखंड विधानसभा के विशेष सत्र की कार्यवाही बुधवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई। विधानसभा अध्यक्ष रविंद्रनाथ महतो ने सदन में भोजनावकाश के बाद सभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने की घोषणा की। सभाध्यक्ष ने अपने समापन भाषण में कहा कि राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने अपने अभिभाषण के माध्यम से उन्होंने झारखंड के वर्तमान सरकार की आनेवाले समय की प्राथमिकताओं का उल्लेख करके शासन की दशा और दिशा दर्शाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि सभा में पारित धन्यवाद प्रस्ताव की सूचना राज्यपाल को प्रेषित कर दी गई है। महतो ने कहा कि सदन में चर्चा के दौरान कुछ सदस्यों ने अपने क्षेत्र की समस्याओं का जिक्र किया है। वहीं कुछ वरीय सदस्यों ने सरकार की प्राथमिकताओं के संबंध में सारगर्भित सुझाव भी दिए हैं। उन्होंने कहा कि आनेवाले दिनों में मकर संक्रांति, सोहराय और बसंत पंचमी के साथ-साथ लोहड़ी का त्यौहार भी हम मनाएंगे। इन त्यौहारों का उल्लास और इनकी मिठास झारखंड के जनजीवन में अनंत समय तक कायम रहे। झारखंड विधानसभा के विशेष सत्र के तीसरे दिन बुधवार को सदन में सत्ता-विपक्ष के बीच तीखी नोंकझोंक होती रही। शोर-शराबे के बीच सदन की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगति कर दी गई। इससे पहले राज्यपाल के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव के समर्थन में बोल रहे कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने मॉब लिंचिंग का जिक्र करते हुए भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए के साथ आरएसएस का जिक्र किया। भाजपा विधायकों को यह नागवार गुजरा और देखते ही देखते तीखी बहस होने लगी। कांग्रेस नेता इरफान अंसारी ने भाजपा सरकार पर हत्या का आरोप लगाया, तो भाजपा ने उनसे अपने इस बयान के लिए माफी मांगने मांगने को कहा। विपक्ष इस बात पर अड़ा रहा कि इरफान अंसारी ने जो कुछ कहा है उसे कार्यवाही से हटाया ’स्पंज’ जाए। विधानसभा अध्यक्ष ने इसे स्पंज कर दिया और माफी मांगने का फैसला इरफान अंसारी पर छोड़ा। हालांकि कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने माफी नहीं मांगी। इसपर भाजपा विधायकों ने वेल में आकर प्रदर्शन किया। सदन में इरफान अंसारी ने आरोप लगाया कि भाजपा की सरकार ने हत्या की है। पांच साल के दौरान जितनी भी मॉब लिंचिंग की घटनाएं हुईं, नई सरकार सभी मामलों की जांच कराएगी। इरफान अंसारी एकदम गरमाएं मिजाज में दिखे। उन्होंने कहा जनता ने हमें इंसाफ करने के लिए विधानसभा चुनाव में जिताया है। कोई भी मारपीट करके हमसे जबरन जय श्रीराम का नारा नहीं लगवा सकेगा। झामुमो, कांग्रेस, राजद की सरकार हर विभाग में हुए घोटालों की जांच कराएगी। हत्यारों को माला पहनाएंगे यह नहीं चलेगा। मैं अपने बयान पर माफी नहीं मांगूंगा। चंदनक्यारी से भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री अमर बाउरी ने कहा आपके पास सत्ता है, जांच करवाएं, लेकिन गुरूर मत रखिए। राष्ट्रवादी ताकतों को कमजोर करने की कोशिश हो रही है। ऐसे बयान से फिरकापरस्त ताकतों को मजबूती मिलेगी। इससे पहले भाजपा के वरिष्ठ विधायक और पूर्व मंत्री सीपी सिंह ने कहा आरएसएस पर आरोप लगाने वाले कौन होते हैं। अगर मैं इरफान को स्लीपर सेल का सदस्य, आतंकी और पाकिस्तानी एजेंट कहूं तो कैसा लगेगा। सिंह ने कहा कि शब्द अहम हैं।

पिछली सरकार में मॉब लिंचिंग के आरोपियों को माला पहनाया गया: विनोद सिंह

आरोप-प्रत्यारोप के दौरान बगोदर से माले विधायक विनोद सिंह ने कहा कि पिछली सरकार में मॉब लिंचिंग के आरोपियों को माला पहनाया गया। झामुमो विधायक दशरथ गागराई ने कहा कि तबरेज अंसारी की हत्या हुई। इसकी दो बार जांच कराई गई, लेकिन सरकार ने ही जांच को प्रभावित किया। उन्होंने तबरेज की मौत की निष्पक्ष जांच की मांग की। सीपी सिंह के यह कहने पर सत्ता पक्ष के लोगों ने इसका विरोध किया। कांग्रेस नेता आलमगीर आलम ने सीपी सिंह की इस टिप्पणी को कार्यवाही से हटाने की मांग की। उन्होंने कहा कि सीपी सिंह को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए। वहीं कांग्रेस के राजेंद्र सिंह ने अध्यक्ष से अपील की कि सीपी सिंह के इस बयान को कार्यवाही से हटवा दें और पूर्व मंत्री से अपने बयान के लिए माफी मांगने को कहें। झारखंड विधानसभा का पंचम विधानसभा सत्र का बुधवार को आखिरी दिन था। अंतिम दिन सदन में राज्यपाल के भाषण पर चर्च होना था। सदन की कार्रवाई जैसे ही शुरू हुई अध्यक्ष रविंद्रनाथ महतो ने लोबिन हेमरोम को मौका दिया। उन्होंने सीएनटी-एसपीटी एक्ट और बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर चर्चा करते हुए कहा कि भाजपा की सरकार ने यहां की सभी नौकरियों पर बाहरियों को देने का काम किया, जिससे स्थानीय युवाओं को काम नहीं मिला। अब हेमंत सोरेन की सरकार में स्थानीय युवाओं को सरकारी नौकरी दी जाएगी। इसपर भाजपा विधायक भानुप्रताप शाही ने कहा कि अभी नौकरी नहीं दिया है, भत्ता ही प्रारंभ कर दीजिए। इसके बाद अध्यक्ष ने जामताड़ा के विधायक इरफान अंसारी को मौका दिया। इरफान अंसारी ने तबरेज अंसारी मॉब लिंचिंग के लिए भाजपा और आरएसएस को जिम्मेदार बताया। इसके बाद विपक्ष की पूरी टीम आसन के पास पहुंच कर हंगामा करने लगी। साथ ही विधायक इरफान अंसारी को बर्खास्त करने की मांग करने लगे। उसके बाद फिर अध्यक्ष ने इरफान अंसारी को अपनी बातों रखने को कहा तो उन्होंने फिर यह बात दोहराई, फिर से विपक्ष के सभी विधायक बेल पहुंचकर हंगामा करने लगे। हो-हंगामा को देखकर अध्यक्ष ने 10 मिनट के लिए सदन को स्थगित कर दिया। जैसे ही सदन की कार्यवाही फिर से शुरू हुई विधायक सीपी, सिंह रंधीर सिंह ने अध्यक्ष से विधायक इरफान अंसारी को सदन में माफी मांगने की बात कही। वहीं इरफान अंसारी ने कहा मैं माफी कतई नहीं मांगूंगा। इतने में फिर से सदन में हंगामा होने लगा। उसके बाद प्रथम पाली की कार्रवाई कार्रवाई समाप्त हुई। भाजपा विधायक सीपी सिंह ने कहा इरफान अंसारी के पास क्या प्रमाण है कि मॉब लिंचिंग केस में आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं का हाथ है। इससे पहले इरफान ने पूर्व की रघुवर सरकार के विभागों की जांच कराने की बात कही। जिसपर हजारीबाग से भाजपा विधायक मनीष जायसवाल ने कहा कि इरफान अंसारी की मनसा क्या है, वह स्पष्ट करें। इसके अलावा चर्चा के दौरान सत्ता पक्ष के विपक्ष के बीच स्थानीय नेता नीति सीएनटी एक्ट और रोजगार के मुद्दे पर सदन में जमकर नोकझोंक हुई। चंदनक्यारी से भाजपा विधायक अमर बाउरी ने कहा कि इरफान अंसारी का बयान गलत है। कोई भी व्यक्ति दोषी हो सकता है, कोई संस्था कैसे दोषी हो सकती है। उन्होंने कहा कि माफी मांगने के लिए अध्यक्ष के बोलने के बावजूद इरफान का माफी न मांगने की बात कहने की बात उनके और कांग्रेस के अहंकार को दिखाता है। बाउरी ने कहा कि हेमंत सरकार कांग्रेस के कंट्रोल में है।

तबरेज कोई आतंकवादी या हत्यारा नहीं था: इरफान अंसारी

वहीं पत्रकारों से बात करते हुए इरफान अंसारी ने कहा कि पूर्व की रघुवर सरकार ने हेमंत सोरेन पर अखबारों के जरिए कई आरोप लगाए हैं। हेमंत सरकार रघुवर दास के पास रहे सभी विभागों की मांग जांच कराई जाएगी। इरफान अंसारी ने कहा कि जो भी दोषी होंगे वह जेल जाएंगे। उन्होंने कहा सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन कर पूर्व की सरकार जमीन लूट लेती, अगर हमलोग उस वक्त विपक्ष में न होते। उन्होंने पारा शिक्षकों पर हुए लाठीचार्ज की भी निंदा की। कहा रघुवर सरकार ने उन्हें सरेआम पिटाई की थी। जामताड़ा विधायक ने कहा कि पूर्व की सरकार ने पूरे राज्य में कमल क्लब बनाकर आदिवासी युवाओं के साथ भेदभाव किया था। हेमंत सरकार में पूरे राज्य में एक भी कमल क्लब नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि पारा शिक्षकों के लिए हेमंत सरकार न्याय करने का काम करेगी। इरफान ने कहा कि तबरेज अंसारी मॉब लिंचिंग केस में हेमंत सरकार कार्रवाई करेगी। उन्होंने कहा कि तबरेज अंसारी कोई आतंकवादी और हत्यारा नहीं था। उन्होंने आरोप लगाया कि आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं ने षडयंत्र के तहत तबरेज अंसारी को मार दिया।

इरफान के बयान पर वेल में पहुंचा विपक्ष

चर्चा के दौरान जब इरफान अंसारी तबरेज अंसारी पर बोल रहे थे, तभी विपक्ष के विधायक वेल में आ गए और उन्होंने इरफान अंसारी को सदन से बर्खास्त करने की मांग अध्यक्ष से करने लगे।

इरफान के पास क्या प्रमाण है: सीपी सिंह

इस दौरान रांची से भाजपा विधायक सीपी सिंह ने कहा कि क्या इरफान अंसारी के पास इसका प्रमाण है कि तबरेज अंसारी को किसने मारा। उन्होंने अध्यक्ष रविंद्रनाथ महतो को संबोधित करते हुए इरफान से माफी मांगने की बात कही। इसके बाद विपक्ष के विधायक दूसरी बार वेल में आकर हंगामा करने लगे। उन्होंने कहा कि इरफान अंसारी को उनके बयान के लिए माफी मांगनी चाहिए।

बेरोजगारों को नौकरी देने के लिए हेमंत सरकार कृतसंकल्पित: लोबिन हेम्ब्रम

झामुमो विधायक लोबिन हेंब्रम ने सीएनटी-एसपीटी एक्ट को लेकर कहा कि पूर्व की रघुवर सरकार ने इस एक्ट से छेड़छाड़ की कोशिश की थी। इसके बाद जब सत्ता पक्ष के विधायक ने स्थानीयता नीति को लेकर बोलना शुरू किया और कहा कि पूर्व की रघुवर सरकार ने स्थानीयता नीति को लागू किया। जिसके तहत आरा, बलिया, छपरा और दरभंगा समेत झारखंड से आए लोगों को बाहरी बताया। उन्होंने कहा कि बाहर से आए लोगों के बच्चों को नहीं, बल्कि यहां के लोगों को प्रमुखता से पहले नौकरी मिलनी चाहिए। इसके बाद विपक्ष के विधायक भानूप्रताप शाही और लोबिन हेंब्रम के बीच तू-तू मैं-मैं होने लगी। भानूप्रताप शाही ने कहा कि हेमंत सरकार ने सरकार बनने के छह महीने बाद पांच लाख नौकरी की बात कही थी। हम छह महीने इंतजार करेंगे। इसके बाद लोबिन हेंब्रम ने कहा कि सभी बेरोजगारों को नौकरी दी जाएगी, फिर शाही ने कहा कि आपने नौकरी देने से पहले भत्ता की बात भी कही थी। इसके बाद लोबिन हेंब्रम ने कहा कि हेमंत सरकार कृतसंकल्पित है कि सभी बेरोजगारों को नौकरी दी जाएगी।

अध्यक्ष ने इरफान से बयान पर खेद व्यक्त करने को कहा

इरफान अंसारी के बयान पर अध्यक्ष रविंद्रनाथ महतो ने उन्हें खेद व्यक्त करने को कहा। इरफान ने कहा कि इन्होंने ’आरएसएस और भाजपा कार्यकर्ताओं’ तबरेज अंसारी और मिराज अंसारी को मारा है। इरफान अंसारी कभी माफी नहीं मांगेगा। उधर, विपक्ष लगातार वेल में इरफान से माफी की मांग करते रहे। इसके बाद अध्यक्ष ने सदन की कार्रवाई को 12.15 तक के लिए स्थगित कर दिया।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.