Category Archives: धर्म एवं अध्यात्म

कालखंड के प्रथम शिव शिष्य श्री हरीन्द्रानन्द जी का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया

एक नाम जो विश्व-पटल पर स्वर्णिम शब्दों में अंकित है। आज उनका जन्मदिन भारतीय भूमि पर मानो एक महोत्सव है। राँची :- कालखंड के प्रथम शिव शिष्य श्री हरीन्द्रानन्द जी का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। एचईसी स्थित वरेण्य गुरुभ्राता के आवास पर शुभकामनाएं देने वालों का तांता सुबह से ही लगा रहा। सोशल मीडिया पर भी शुभकामनाओं का सैलाब

Read more

मुम्बई के विभिन्न ज़िलों में वरेण्य गुरुभ्राता साहब श्री हरीन्द्रानंद का जन्मदिन हर्षोल्लास से मनाया गया

मुुम्बई :- शिव शिष्यता के प्रणेता और इस कालखंड के प्रथम शिव शिष्य साहब श्री हरीन्द्रानंद जी के जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में मुम्बई के विभिन्न क्षेत्रों में शिव चर्चा का आयोजन कर शिव के गुरुस्वरूप से जनमानस का जुड़ाव करने का प्रयत्न किया गया। मुम्बई के अंधेरी पश्चिम, जोगेश्वरी पूर्व, कांदिवली पूर्व तथा ठाणे जिले के डोम्बिवली पूर्व, पालघर के

Read more

अध्यात्म का जन्म ही प्रकृति की गोद में हुआ है :हरीन्द्रानंद जी

पटना :- वैश्विक शिव शिष्य परिवार के तत्त्वावधान में ‘‘कड़ी धूप जलते पाँव, पेड़ होते तो मिलती छाँव’’ विषयक एक दिवसीय कार्यशाला ‘‘बापू सभागार’’ गाँधी मैदान, पटना में आयोजित की गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि वरेण्य गुरूभ्राता श्री हरीन्द्रानन्द जी ने कहा कि मानव जब प्रकृति के साथ एकाकार करता है तो बनती है बौद्धिकता और जन्म लेती है आध्यात्मिकता।

Read more

नारीशक्ति का करें सम्मान: रघुवर दास

जमशेदपुर :- माँ दुर्गा से याचना करता हूं कि मां मुझे आशीर्वाद दें। ताकि राज्य की समृद्धि हेतु निरंतर कार्य करता रहूं। मैं जमशेदपुर पूर्वी के लोगों को नमन करता हूं। आपने एक मजदूर परिवार के व्यक्ति को 1995 से सेवा का अवसर दे रहें हैं। आपके आदेश से ही मैं झारखण्ड की समृद्धि के लिए मजदूरी कर रहा हूं।

Read more

दुर्गा बाड़ी में मां दुर्गे की आराधना में शामिल हुए सुबोध कांत सहाय

राँची:- पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय दुर्गोत्सव के दौरान महा अष्टमी के दिन शहर के अल्बर्ट एक्का चौक स्थित दुर्गा बाड़ी में मां दुर्गे की पूजा-अर्चना में शामिल हुए और माता के दरबार में मत्था टेका। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि नवरात्र मां दुर्गा की उपासना का पावन पर्व है। जीवन में माता का स्थान सर्वोच्च होता है।

Read more

शिव शिष्य हरीन्द्रानन्द जी पहुंचे माता के दरबार

राँची :- शिव शिष्य हरीन्द्रानन्द जी रविवार को माँ भद्रकाली दरवार पहुंचे। उनके साथ झारखण्ड के अलावा बिहार के बड़ी संख्या में शिव शिष्य साथ थे। इनमें महिलाओं की संख्या अधिक थी। इधर हरीन्द्रानन्द जी के आने की सूचना के बाद शिवगुरु से जुड़े स्थानीय लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। अपराह्ण 12 बजे मंदिर का कपाट बंद होने के कारण

Read more
« Older Entries